मरीजो को गुमराह कर निजी अस्पताल ले जाने वाली एम्बुलेंस के पंजीयन होंगे निरस्त

ग्वालियर– मरीजों को गुमराह कर निजी अस्पताल ले जाने वाले एम्बुलेंस संचालकों पर होगी सख्त कार्यवाही। साथ ही ऐसे कृत्य में लिप्त पाए जाने वाले निजी अस्पतालों के पंजीयन निरस्त किये जायेंगे। अपर कलेक्टर किशोर कान्याल की अध्यक्षता में एम्बुलेंस संचालकों की मीटिंग का आयोजन कलेक्ट्रेट परिसर में किया गया। जिसमें उन्हें कई बिंदुओं पर समझाइश दी गई।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर मृदुल सक्सेना ने कहा कि सभी निजी अस्पताल अपने गेट पर एक बोर्ड लगाएं जिसपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, नर्सिंग होम नोडल अधिकारी, 108 नोडल अधिकारी के मोबाइल नम्बर हो ताकि पीड़ित एम्बुलेंस संचालक की शिकायत तुरन्त कर सके। अपर कलेक्टर ने साफ शब्दों में कहा कि यदि एम्बुलेंस संचालक मरीज को निजी अस्पताल पहुंचाने का दोषी पाया जाता है तो उसके वाहन का पंजीयन निरस्त करने की कार्यवाही की जाएगी। और निजी अस्पताल का पंजीयन भी निरस्त किया जाएगा। ऐसे कई मामले सामने आते हैं जिसमे मोटे कमीशन के लालच में एम्बुलेंस संचालक मरीज को निजी अस्पताल ले जाते हैं। अब देखना होगा कि प्रशाशन की सख्ती ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगा पाती है कि नहीं।

Related posts

Leave a Comment