मसाला फेक्ट्री में मिला लकड़ी का बुरादा और खतरनाक रसायन, ब्रांडेड मसालों के नाम पर बन रहा था जहर

ग्वालियर: जिला प्रशासन और एसटीएफ द्वारा मिलावट खोरो के खिलाफ आज एक और बड़ी कार्यवाही की गई है। दाना ओली के शिवराम के बाड़े में एक ऐसी मसाला फैक्ट्री पर दबिश दी गई है जहां लकड़ी के बुरादे और घातक केमिकल से मिर्ची धनिया हल्दी और दूसरे मसाले तैयार किए जा रहे थे।

यहां विभिन्न कंपनियों के रेपर भी मिले हैं जिनमें राजलक्ष्मी बावर्ची तथा अन्य ब्रांड शामिल है। खास बात यह है कि इनमे से किसी भी ब्रांड का कोई रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस मसाला फैक्ट्री के पास नहीं है प्रशासन जब फैक्ट्री पर पहुंचा तो वहां ताला लगा हुआ था पूछने पर पता चला कि बृजेश गुप्ता और संजय गुप्ता नामक जिन भाइयों की यह फैक्ट्री है वह शहर में नहीं है। माना जा रहा है कि वर्तमान में मिलावट खोरो पर चल रही कार्यवाही से डर दोनों भाई फेक्ट्री पर ताला लगा कर गायब हो गए हैं।

प्रशासन ने पुलिस की मौजूदगी में ताला तोड़कर फैक्ट्री में प्रवेश किया और अंदर का नजारा देखकर उनकी हैरानी का ठिकाना नहीं रहा। क्योंकि लकड़ी के बुरादे का फैक्ट्री में मिलना बेहद चौंकाने वाला था।”

प्रशासन का कहना है कि इसे संभवत धनिया पाउडर में मिलाया जाता था वही मिर्च पाउडर में भी घातक रसायन और रंग मिलाकर उसे तैयार किए जाता था। यही हाल हल्दी पाउडर के साथ भी किया जाता था यानी पैकिंग मसालों के नाम पर फैक्ट्री संचालक लोगों को जहर बेच रहे थे ।यह फैक्ट्री दो दशकों से यहां चल रही थी लेकिन प्रशासन की नाक के नीचे चल रही इस फैक्ट्री की कारगुजारियों का किसी को पता नहीं था। अधिकारियों ने फैक्ट्री को सील कर दिया है। और नमूने जांच के लिए भेज दिए हैं।

Related posts

Leave a Comment