आईआईएम की पीएचडी को मानव संसाधन विकास मंत्रालय का इंकार

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने भारतीय प्रबंध संस्थानों (आईआईएम) में शुरू हुए दो वर्ष के पीएचडी पाठ्यक्रम को मान्यता देने से इनकार कर दिया है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। निशंक ने कहा कि यूजीसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार पीएचडी पाठ्यक्रम की न्यूनतम अवधि तीन वर्ष है। उन्होंने कहा कि 6.5 सीजीपीए के साथ बीटेक के चार वर्षीय स्नातक या समकक्ष अर्हता प्राप्त छात्र आईआईएम में पीएचडी कोर्स में दाखिला लेने के पात्र हैं।

वर्तमान में आईआईएम में प्रोग्राम इन मैनजमेंट (एफपीएम) का कोर्स पीएचडी के समकक्ष माना जाता है। हालांकि, आईआईएम अधिनियम के साथ ये कॉलेज पीएचडी डिग्री चाहते हैं। लेकिन यदि आईआईएम पीएचडी देना चाहे तो मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अनुसार यह तीन साल का कोर्स होना चाहिए।

Related posts

Leave a Comment