वीआईएसएम ग्रुप आफ स्ट्डीज में स्व. राजमाता विजयाराजे सिंधिया का जन्म शताब्दी वर्ष मनाया गया

ग्वालियर | राजमता विजयाराजे सिंधिया के जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में शहर में कई कार्यक्रम हुए। वीआईएसएम ग्रुप आफ स्ट्डीज में भी स्व. राजमाता विजयाराजे सिंधिया का जन्म शताब्दी वर्ष मनाया गया। सभी ने राजमाता को पुष्प अर्पित किए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अभा साहित्य परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्रीधर पराडकर उपस्थित रहे। उन्होंने राजमाता सिंधिया के बारे में कहा कि महिलाओं की शिक्षा एवं नारी सशक्तिकरण में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, वह स्वभाव से धार्मिक प्रवृति की महिला थीं।

इस अवसर पर संस्थान के डायरेक्टर सुनील राठौर ने कहा कि राजमाता जन सेवा के क्षेत्र से जुड़ी थी और समाज के उत्थान में वह शिक्षा का अहम योगदान मानती थी। उन्ही से प्रेरणा लेकर वीआईएसएम प्रयासरत है।

 

यह पहला मौका नही है जब राजमाता की जयंती यहां मनाई गई हो। पिछले 12 वर्ष से 12 अक्टूबर के दिन यह कार्यक्रम आयोजित होता है। इस वर्ष जन्म शताब्दी वर्ष होने से इसका अधिक महत्व है।

Related posts

Leave a Comment