ध्यानेन्द्र सिंह और माया सिंह ने बताया शिक्षा के क्षेत्र में राजमाता का योगदान

ग्वालियर- राजमाता विजयाराजे सिंधिया की 19वी पुण्यतिथि के अवसर पर व्हीआईएसऐम ग्रुप आफॅ स्टडीज में एक सभा का आयोजन किया गया.. इस कार्यक्रम में पूर्व मंत्री ध्यानेन्द्र सिंह, पूर्व मंत्री माया सिंह, व्हीआईएसएम के डायरेक्टर सुनील राठौर के साथ कई छात्र उपस्थित रहे

सुनील राठौर ने कहा कि राजमाता विजयाराजे के नाम से संचालित विजयाराजे सिंधिया इंस्टीटूट ऑफ साइंस एंड मैनेजमेंट आज राजमाता के उस उद्देश्य को पूर्ण कर रहा है जिसके लिए वह जीवन पर्यंत प्रयास करती रहीं। राजमाता का मानना था कि युवाओं को अच्छी शिक्षा ही देश के विकास की आधारशिला है.. सिंधिया कन्या विद्यालय, विजयाराजे कॉलेज, कमल राजा कॉलेज और ऐसे ही कई संस्थान आज उनके इस सपने को पूरा कर रहे हैं… माया सिंह ने राजमाता को याद करते हुए कहा कि वह एक आम परिवार से निकल कर पहले राज परिवार का हिस्सा बनी फिर राजनीति में अपनी पहचान बनाई.. आज के युवाओं के लिए वह एक उदाहरण है.. उनसे प्रेरणा लेकर ही कई लोग समाज सेवा की क्षेत्र में आगे आये.. आपको बता दें कि व्हीआईएसएम कॉलेज में हर वर्ष आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम के माध्यम से छात्रों को राजमाता के जीवन के दर्शन होते हैं.. और उनमें राष्ट्रप्रेम की भावना जागृत होती है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट; द इंग्लेज़ पोस्ट

Related posts

Leave a Comment